राजनीती से बढ़िया कोई बिज़नेस नहीं एक दशक में पार्टियों ने कमाए 11,367 करोड़
imgmain

बीतें दस सालों में देश की सभी राजनीतिक दलों को जमकर आय हुई है। एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक 2004-05 से 2014-2015 के बीच राजनीतिक पार्टियों को 11 हजार 367 करोड़ रुपये की आय हुई है।

रिपोर्ट के मुताबिक, सबसे ज्यादा इजाफा कांग्रेस पार्टी की आय में हुआ है। बीते एक दशक में कांग्रेस की आय में 83 फीसदी (3,323 करोड़ रुपये) बढ़ी है। कांग्रेस के बाद सबसे ज्यादा बीजेपी को हुई है। बीते दस सालों में भाजपा की आय में 65 फीसदी (2125 करोड़ रुपये) का इजाफा हुआ है।

अगर क्षेत्रीय पार्टीयों की बात की जाए तो सबसे ज्यादा फायदा समाजवादी पार्टी को मिला है। दस सालों में समाजवादी पार्टी की आय में 94 फीसदी (766 करोड़ रुपये) का इजाफा हुआ है। सपा के बाद शिरोमणि अकाली दल की आय में सबसे ज्यादा 86 फीसदी (88 करोड़ रुपये) का इजाफा हुआ।

चौंकाने वाली बात यह है कि इन राजनीतिक दलों की आय का 69 फीसदी हिस्सा अज्ञात स्त्रोतों से आया हुआ है। अज्ञात स्रोतों से राजनीतिक दलों को सात हजार 833 करोड़ रुपये की राशि प्राप्त हुई। जबकि ज्ञात स्त्रोतों से राजनीतिक दलों को महज 16 फीसदी (एक हजार 835 करोड़ रुपये) का आय हुआ है। 
    
रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रीय पार्टियों की आय में जहां 313 फीसदी का इजाफा हुआ है वहीं क्षेत्रीय पार्टियों की आय में लगभग इसका दोगुना 652 फीसदी का इजाफा हुआ है।

Leave a comment

avatar.png
JimmiNil
11/28/2017 2:38:59 PM
35xf00 http://www.LnAJ7K8QSpfMO2wQ8gO.com