कानपुर

कानपूर कोल्ड स्टोरेज में धमाका 5 की मौत 6  दर्जन से अधिक जख्मी

कानपुर के शिवराजपुर इलाके में बुधवार को कटियार कोल्ड स्टोरेज की बिल्डिंग तेज धमाके के साथ गिर गई। इसके बाद से अमोनिया का रिसाव लगातार जारी है। हादसे में मलबे तले दबे दर्जन भर लोगों को जिंदा बाहर निकाल लिया गया है, जबकि 5 लोगों के मारे जाने की खबर है। अब भी 70 से अधिक लोगों के मलबें तले दबे होने की संभावना जताई जा रही है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कटियार कोल्ड स्टोरेज में इस बार दो नए चेंबर बनाए गए थे। मौजूदा समय में लोडिंग का काम...आगे पढ़े

Post by आंदोलन ब्यूरो on 03/15/2017

बेशर्म रेल मंत्री और बेख़ौफ़ अधिकारी, क्या यही वजह तो नहीं कि नहीं रुक रहे ट्रेन हादसे

उत्तर प्रदेश के कानपूर के पास रूरा  में बुधवार को एक और ट्रेन हदस हो गया. रूरा स्टेशन के नज़दीक अजमेर-सियालदह एक्सप्रेस ट्रेन के 15 डिब्बे पटरी से उतर गए. रेल मंत्रालय ने ट्वीट कर कहा है कि अभी तक किसी की मौत की ख़बर नहीं है. इलाहाबाद मंडल के सीपीआरओ विजेंद्र कुमार ने बताया कि 15 बोगियां पटरी से उतरी हैं, इनमें 13 स्लीपर और दो जनरल डिब्बे हैं. 

इलाहाबाद में डीआरएम संजय कुमार पंकज ने बताया कि पटरी से उतरे डिब्बों से यात्रियों को निकाल लिया गया है. वहीं रूरा रे...आगे पढ़े

Post by राजीव तिवारी on 12/28/2016

मरने के 40  साल बाद कैसे जिन्दा हो गयी ये महिला

वैसे तो पूरी दुनिया में विज्ञानं के बढ़ाये प्रभाव के बावजूद कुछ पुनर्जन्म पर विश्वास करते हैं लेकिन अपने देश में ऐसे लोगों की संख्या कुछ ज्यादा ही है. और हो भी क्यों न, यहाँ समय समय पर ऐसे वाकये सामने आते रहते हैं की विश्वास करना ही पड़ता है.ताजा मामला उत्तर प्रदेश के कानपूर का है. यहॉ जिस महिला को मरने पर उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया था वह जिन्दा घर वापस घर आ गयी वो भी 40 साल बाद.   

ये कहानी है कानपूर के घाटमपुर ब्लाक पतारा ग्राम तेनापुर निवासी 72  वर्षीय&n...आगे पढ़े

Post by आंदोलन ब्यूरो on 12/23/2016

देश में 2001से अब तक हुए बड़े रेल हादसे

20 मार्च, 2015: देहरादून से वाराणसी जा रही जनता एक्सप्रेस पटरी से उतर गई थी. इस हादसे में 34 लोग मारे गए थे.4 मई, 2014: दिवा सावंतवादी पैसेंजर ट्रेन नागोठाने और रोहा स्टेशन के बीच पटरी से उतर गई थी. इसमें 20 लोगों की जान गई थी और 100 अन्य घायल हुए थे.28 दिसंबर 2013: बेंगलूरु-नांदेड़ एक्सप्रेस ट्रेन में आग लग गई थी और इसमें 26 लोग मारे गए थे. आग एयर कंडिशन कोच में लगी थी. उसी...आगे पढ़े

Post by आन्दोलन ब्यूरो on 11/20/2016

बिल्ले ने दबोच के मार डाला मासूम बच्ची को

कानपूर के चकेरी इलाके में एक दिल दहला देने मामला सामने आया है. यहाँ एक बिल्ली ने एक मासूम बच्ची को दबोच कर मर डाला. घटना के बाद से बच्ची के परिजन सदमे में है. 

जानकारी के मुताबिक चकेरी के शिवकटरा इलाके में शिवकटरा हरिजन बस्ती निवासी धर्मपाल बिजली मिस्त्री हैं। परिवार में पत्नी शशि, चार साल का बेटा अंश, दो साल का बेटा अंकुर व सवा महीने की बेटी थी। अंश अपनी नानी के साथ रहता है। शशि ने बताया कि वह बेटी को अंदर चारपाई पर सुलाकर बाहर बेटे अंकुर के साथ बैठी थी। अचानक बच्ची क...आगे पढ़े

Post by राजीव तिवारी on 11/19/2016

Previous 1 Next