ब्लॉग्स

बहुत हुआ सम्मान.

...आगे पढ़े
Post by Rajiv tiwari on 10/13/2018

राजीव तिवारी (बाबा) होंगे उत्तर प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री!!!

उत्तर प्रदेश से एक चौकाने वाली खबर आ रही है. भाजपा केंद्रीय संसदीय दल ने  यूपी के मुख्यमंत्री पद के लिए नए चेहरे को मंजूरी दे दी है. ये नाम है राजीव तिवारी, जो अपने मित्रों और शुभचिन्तकों के बीच बाबा के नाम से जाने जाते हैं. बाबा के नाम पर संघ पहले ही सहमति जाता चुका है. हैरत करने वाली बात ये है की तिवारी का राजनीती से दूर दूर तक कोई नाता नहीं है. करीब दो दशकों तक मुख्यधारा की पत्रकारिता करने के बाद बाबा पिछले कुछ समय से फिल्म निर्माण से भी जुड़े हैं. भाजपा शीर्ष नेतृत्व क...आगे पढ़े

Post by राजीव तिवारी on 03/12/2017

वर्दी वाला गुंडा ने मुझे पत्रकार बना दिया

वर्दी वाला गुंडा के रचनाकार वेद प्रकाश शर्मा को विनम्र श्रद्धान्जलि 

अक्सर लोग मुझसे पूछते हैं की मैं पत्रकार कैसे  बन गया.  तो इसका जवाब ये है की वर्दी वाला गुंडा ने मुझे पढ़ने की लत लगाई जिसके बाद पढना लिखना ही जीविकोपार्जन का साधन बन गया और बीते करीब दो दशकों से मैं पत्रकारिता की दुनिया में जी रहा हूँ.  जी हाँ, शनिवार को जब  से देश के जाने मने उपन्यासकार वेद प्रकाश  शर्मा के निधन की खबर मिली तब से ही उनके बारे में सोच रहा हूँ. आज वेद प्र...आगे पढ़े

Post by राजीव तिवारी on 02/19/2017

वेलेंटाइन डे विशेष - ये है भारतीय परिवेश में प्रेम का वास्तविक स्वरुप

हैप्पी वैलेंटाइन डे , ये शब्द आज हर जगह गूँज  रहा है।  भारत के बदलते परिवेश में पाश्चात्य संस्कृति का जो संगम हो रहा है या कहना चाहिए होता जा रहा है ,ये कई पुरानी विचारधारा से ताल्लुक रखने वाले लोगो के लिए पीड़ादायक है।

परिवर्तन तो प्रकृति का नियम है जो हर क्षेत्र में हो रहा है ,परंतु परिवर्तन सकारात्मक और उन्नति की ओर अग्रसर होना चाहिए। नयी पीढ़ी जो अंधाधुंध पाश्चात्य संस्कृति का अनुसरण कर रही है उससे कहीं न कही भारतीयता के नैतिक मूल्यों का हास्  होता प्रतीत हो रहा है। ...आगे पढ़े

Post by दीपाली on 02/13/2017

जानिए क्या है स्वास्तिक की कहानी और इसका महत्व

अगर हिन्दू धर्म इतना विशाल था,.. कई हिन्दू राजाओं का अधिकार,.. पूरी पृथ्वी पर था,.. ऐसा ग्रंथों में बताया जाता है,.. लेकिन भारत से बाहर,. कहीं इनके निशान नहीं हैं. क्या हिन्दू लोग,.. यही सिर्फ भारतीय उपप्रायदीप को ही पूरी पृथ्वी मान लेते थे... क्या हमारे सदियों पुराने स्वास्तिक की पहचान,.. सिर्फ हिटलर की वजह से है ....हम क्या पढ़ रहे हैं आज ....अपनी विराट पुरातन सभ्यता को,.. हम क्यों कुछ वामियों के कुचक्र में फंस कर,.. उन्हें विस्मृत करते जा रहे हैं

आइये समझने की कोशिश कर...आगे पढ़े

Post by दीपाली on 12/24/2016

डकार आए तो समझो स्वास्थ्य ठीक है, जानिए डकार क्यों है स्वास्थ्य के लिए महत्त्वपूर्ण

साधारणत: लोग डकार के आने को पेट भर जाना समझते हैं और कुछ लोग उसे बदहजमी की शिकायत कहते हैं। संसार के कुछ हिस्सों में डकार लेने को असभ्यता माना जाता है। विवाह एवं अन्य पार्टी आदि में खाना खाते समय जब अचानक डकार आ जाती है तो जहां खाना खाने वाला कहता है कि बस भई, पेट भर गया है,
वहां खिलाने वाला भी स्वत: समझ जाता है कि परोसना बंद किया जाये, क्योंकि खाने वालों के पेट भर गये हैं। यानी उन्हें डकार आने लगी हैं।
लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं है। डकार का आना शारीरिक-क्रि या का एक अंग है। कुकर मे...आगे पढ़े

Post by दीपाली on 12/16/2016

जानिए अपने खून के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी

हम सभी के शरीर में खून एक आवश्यक जीवन अवयव है. लेकिन हममे से कितने लोग खून के बारे में जानकारी रखते हैं.  आइये आपको बताते हैं खून के बारे में कुछ रोचक तथ्य

किसी में खून की कमी होती है तो कोई रक्तदान करता है. किसी में खून की कमी होती है तो कोई रक्तदान करता है. जब तक जीवन चलेगा तब तक खून से संबंध रहेगा ही। लगभग हर किसी ने अपनी आँखो से और अपने ही शरीर से निकला खून देखा है लेकिन इस बारे में ज...आगे पढ़े

Post by दीपाली on 12/04/2016

Previous 1 Next